Preparation to implement odd-even formula in 4 districts of Haryana; There will be strictness in 14 districts included in NCR, work from home till 21 | हरियाणा के 4 जिलों में ऑड-इवन फार्मूला लागू करने की तैयारी; NCR में शामिल 14 जिलों में होगी सख्ती, 21 तक वर्क फ्रॉम होम

Delhi
0 0
Read Time:4 Minute, 35 Second


  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • Preparation To Implement Odd even Formula In 4 Districts Of Haryana; There Will Be Strictness In 14 Districts Included In NCR, Work From Home Till 21

रेवाड़ी6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
बुधवार को रेवाड़ी में बिछी स्मॉग की चादर। - Dainik Bhaskar

बुधवार को रेवाड़ी में बिछी स्मॉग की चादर।

आबोहवा को ठीक रखने के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हरियाणा सरकार ने बुधवार को कुछ सख्त फैसले लिए है। हरियाणा के 4 जिलों में किसी भी समय ऑड-इवन (शम-विषम) सिस्टम लागू हो सकता है। इसके अलावा NCR में शामिल 14 जिलों में सख्ती बरतने यानि वर्क फ्रॉम होम के अलावा स्कूल व शिक्षण संस्थानों को 21 नवंबर तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। गुरुग्राम में पहुंचे CM मनोहर लाल ने बताया कि पॉल्यूशन को लेकर गुरुग्राम कमिश्वर, डीसी और कुछ इंजीनियर को शामिल कर एक कमेटी बनाई गई है, जो इस मसले पर अपना सुझाव देगी।

बता दें कि दिल्ली और पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) क्षेत्र में बढ़ते प्रदूषण के प्रकोप को रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए केन्द्र और राज्य सरकार दोनों से जवाब तलब किया था। सर्वोच्च न्यायालय तक मामला पहुंचने के बाद हरकत में आई हरियाणा सरकार ने हरियाणा के 4 जिलों यानि गुरुग्राम, फरीदाबाद, झज्जर और सोनीपत में शिक्षण संस्थानों के साथ ही कोयले और प्रदूषण को बढ़ावा देने वाले कंपनियों को बंद करने का आदेश दिया था। लेकिन उसके बाद भी प्रदूषण कम होने की बजाए लगातार बढ़ता चला गया। अब प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अधिकारियों के साथ मिलकर एक्शन प्लान तैयार किया है।

समस्या गंभीर, उसी दिशा में उठा रहे कदम
बुधवार को गुरुग्राम पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि पॉल्यूशन की समस्या गंभीर है। यह समस्या नई नहीं बल्कि, पिछले कई वर्षों से हम झेल रहे हैं। इसका सीधा असर आमजन के स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव डाल रहा है। सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के अनुसार स्कूल-कॉलेज के अलावा अन्य शिक्षण संस्थान और कुछ ओद्योगिक इकाईयों को भी बंद किया गया है। साथ ही कोयला से संबंधित उद्योग और अन्य उद्योगों पर भी फैसला लेने के निर्देश दिए जा चुके हैं। प्रदूषण को कम करने के लिए गुरुग्राम कमिश्नर और डीसी की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है जिसमें इंजीनियरिंग और संबंधित विभागों के अधिकारियों को शामिल किया गया है। यदि सबकी सहमति बनती है तो ऑड-इवन के फैसले पर अगले सप्ताह तक फैसला लिया जा सकता है।

इन फैसलों पर विचार
-NCR में शामिल हरियाणा के 14 जिलों में वर्क फ्रॉम होम की सलाह

-21 नवंबर तक हरियाणा में वर्क फ्रॉम होम के लिए दिए आदेश

-सरकारी दफ्तरों में 50% स्टाफ पर लागू होगा वर्क फ्रॉम होम

-निजी उद्योगों में भी 50% वर्क फ्रॉम होम की सलाह

-10 साल पुराने डीजल व 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों को किया जाएगा चिन्हित

-खुले में कचरा जलाने की गतिविधियों पर भी लगाई रोक

-बिना कवर की गई निर्माण सामग्री ले जा रहे भारी वाहनों पर भी होगी कार्रवाई

-NCR क्षेत्र में निर्माण कार्यों पर भी लगाई गई रोक

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *