Case registered against 1 dozen farmers who set fire to the remains | अवशेषों में आग लगाने वाले 1 दर्जन किसानों पर मामला दर्ज

Haryana
0 0
Read Time:2 Minute, 19 Second


करनाल10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

धान कटाई के बाद अवशेषों में आग लगाने वाले किसानों पर प्रशासन ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। पिछले महीने एक्टिव फायर लोकेशन के आधार पर जिन स्थानों पर आग लगी थी, उन पर अब एफआईआर करवाई जा रही है।

बुधवार को घरौंडा, मधुबन, मूनक थाना के तहत एरिया की एफआईआर करवाई गई है। इससे उन किसानों की टेंशन बढ़ गई, जिन्होंने धान के अवशेषों में आग लगाई थी। प्रदूषण का लेवल बढ़ चुका है और सांस लेने में परेशानी हो रही है। इस स्थिति में प्रशासन की तरफ से प्रदूषण स्तर को कम करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

घरौंडा थाना में उप निदेशक कृषि एवं कल्याण विभाग की तरफ से शिकायत दी गई कि 19 अक्टूबर एक्टिव फायर लोकेशन रिपोर्ट बनाई गई है। धान कटाई उपरांत अवशेष जलाने पर आगामी दो माह के लिए प्रतिबंध लगाया हुआ है।

फसलों के अवशेष जलाना वायु एवं प्रदूषण नियंत्रण अधिनियम 1981 का उल्लंघना है। इस चेतावनी के बावजूद भी अवशेष जलाए गए। इस तरह पुलिस ने चार एफआईआर में दर्जनभर किसानों पर केस दर्ज किया गया है। कृषि विभाग के अधिकारियों का कहना है कि उनकी टीम फिल्ड में अलर्ट है। जो किसान पहले आग लगा चुके हैं, उनकी रिपोर्ट बनाई जा रही है।

^किसान फसलों के अवशेषों को खेतों में न जलाएं, बल्कि उनका खेतों में ही समुचित प्रबंध करें। सरकार द्वारा फसल अवशेष प्रबंधन को लेकर किसानों को अनेक प्रोत्साहन दिए जा रहे हैं। सरकार की इन स्कीमों का लाभ उठाएं। यदि कोई अवशेषों में आग लगाता है तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी। -निशांत कुमार, डीसी।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *