Guru Nanak Dev gave the message of mutual brotherhood, taught people to unite | गुरु नानक देव ने आपसी भाइचारे का संदेश दिया, लोगों को जोड़ना सिखाया

Haryana
0 0
Read Time:3 Minute, 22 Second


करनाल9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सिख पंथ के आदि गुरु पहली पातशाही गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में नगर कीर्तन निकाला गया। नगर कीर्तन शहर की मुख्य सड़कों से होकर गुजरा। जहां से भी नगर कीर्तन निकला पालकी साहिब के आगे मत्था टेकने वालों का तांता लग गया। पालकी के आगे पंच प्यारे आस्था के प्रतीक थे। गतका पार्टी ने हैरतअंगेज कारनामों का प्रदर्शन किया। डेरा कारसेवा के महंत बाबा सुक्खा सिंह के मार्गदर्शन में निकाले गए नगर कीर्तन का शुभारंभ डेरा कारसेवा में अरदास के साथ हुआ।

उसके बाद मंजी साहिब गुरुद्वारे से नगर कीर्तन आरंभ हुआ। यहां पर हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रदेश प्रवक्ता किशोर नागपाल को सिरोपा भेंट किया नगर कीर्तन में इंद्रपाल सिंह, एपी एस चौपड़ा,वरिंदर सिंह,राजेंद्र अरोड़ा पप्पी सैकट्री,गगन मेहता सुरेंद्र पाल सिंह रामगडिय़ा के साथ सैकड़ों लोग चल रहे थे। नगर कीर्तन में बच्चो पीटी करते हुए चल रहे थे।

यहां के होकर निकला नगर कीर्तन : इसके अलावा प्रसाद बांटने के लिए स्टाल लगाए गए। नगर कीर्तन कर्ण गेट, कमेटी चौक, दावत होटल चौक, अस्पताल चौँक, कुंजपुरा रोड, सब्जी मंडी से होते हुआ डेरा कारसेवा पहुंचा। नगर कीर्तन में पालकी साहब के आगे सड़क को साफ कर उस पर फूलों की वर्षा कराते हुए श्रद्धालु लोगों में आस्था जगा रहे थे।

नगर कीर्तन में कीर्तन करते हुए महिलाओं का जत्था, बच्चों की परेड आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी। इस अवसर पर गुरपाल सिंह, गुरसेवक सिंह, हरजीत सिंह, दीप उप्पल, रतन सिंह, बलविंदर सिंह हरप्रीत नरूला ने नगर कीर्तन में पालकी साहिब के आगे मत्था टेका।

गुरु नानक देव ने मानवता को बताया सच्चा धर्म
गुरु नानक देव जी ने आपसी भाई चारे का संदेश दिया। उन्होंने लोगों को जोड़ना सिखाया। यह बात समाजसेवी और गुरुपर्व कमेटी के सदस्य एपीएस चोपड़ा ने कही। उन्होंने कहा कि आज धर्म के नाम पर जो नफरत सिखा रहे हैं। वह गुरु के सेवक नहीं हो सकते हैं।

गुरुओं ने हमें मानवता की रक्षा के लिए बलिदान करना सिखाया। उन्होंने कहा कि आज के दिन हमें समाज को जोड़ने के लिए काम करने का संकल्प लेना चाहिए। इंद्रपाल सिंह ने कहा कि गुरुओं की शिक्षा के आत्मसात कर समाज का भला करना चाहिए।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *