40 CCTV cameras installed at different points are operational, control room is also to be built, but without electricity, no work | अलग-अलग पॉइंट पर लगे 40 सीसीटीवी कैमरे चालू, कंट्रोल रूम भी बनना है, लेकिन बिना बिजली किसी काम के नहीं

Haryana
0 0
Read Time:5 Minute, 24 Second


  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • 40 CCTV Cameras Installed At Different Points Are Operational, Control Room Is Also To Be Built, But Without Electricity, No Work

अम्बाला सिटी7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
सिटी में आर्य चाैक पर लगा कैमरा बेलनुमा झाड़ियों के बीच घिरा है। - Dainik Bhaskar

सिटी में आर्य चाैक पर लगा कैमरा बेलनुमा झाड़ियों के बीच घिरा है।

  • बिजली की कनेक्टिविटी न होने से चौराहों के सीसीटीवी कैमरे ठप, रोज हो रही स्नैचिंग, कैसे पकड़े जाएंगे अपराधी

जिले में लगभग हर दिन चेन स्नैचिंग व वाहन चोरी की वारदात हो रही हैं। झपटमार चौक चौराहों पर सरेआम स्नैचिंग कर बच निकलते हैं। जिला प्रशासन की तरफ से बलदेव नगर, नारायणगढ़ रोड, आर्य चौक, पॉलीटेक्निक चौक, अग्रसेन चौक, मानव चौक व कैंट में जगाधरी रोड, रेलवे ओवर ब्रिज समेत 40 पाॅइंट पर लगाए कैमरे ठप पड़े हैं। कैमरे सही सलामत हैं लेकिन बिजली की कनेक्टिविटी नहीं होने से काम नहीं आ रहे।

जबकि पुलिस की योजना चौक के आसपास के कैमरों को थानों व चौकियों से जोड़ते हुए पुलिस लाइन में कंट्रोल रूम बनाने की थी। सर्वर को स्पीड देने के लिए ऑप्टिकल फाइबर लाइन बिछाने का करीब लाख रुपए का बजट रखा गया था। ऐसा ही कंट्रोल रूम कैंट में भी बनाया जाना था। कैमरों को लगाने का मकसद एक साथ सभी पाॅइंट पर निगरानी का था।

कैमरों के लिए कंट्रोल रूम के लिए साल 2019 में पुलिस विभाग की तरफ से डिमांड भेजी थी। कंट्रोल रूम में निगरानी के लिए अलग से मुलाजिम लगाए जाने थे। 85 नए पाॅइंट चिह्नित किए गए थे जहां पर और कैमरे लगाए जाने की योजना थी। हालांकि, चौराहों पर कैमरे लगाने से पहले यह नहीं सोचा गया कि इनको बिजली की सप्लाई कैसे मिलेगी। पहले इसका जिम्मा नगर निगम पर डाला गया लेकिन निगम ने भी पल्ला झाड़ लिया। अभी हालात ये हैं कि ज्यादातर कैमरों के डीवीआर चौराहों पर बनाए बूथ में रखे हुए हैं।

कालका चौक की वारदात से नहीं लिया सबक
कालका चौक पर 25 मार्च 2021 को सरेआम गैंगवार हुई। जिसमें अम्बाला कोर्ट में पेशी के बाद वापस लौट रहे युवकों की कार को रोककर 25 से 30 राउंड गोली बरसाई गई थी। इस वारदात में दो युवकाें की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि दो घायल हुए थे। कालका चौक लगे सीसीटीवी कैमरे बिजली का कनेक्शन कट जाने के बाद बंद पड़े मिले थे। एक कैमरा एनएच-वन का लगा था जिसकी फुटेज हाईवे पर थी।
फुटेज के लिए दुकानदारों से मदद मांगती है पुलिस
जिला प्रशासन की तरफ से लगाए गए कैमरे खराब होने से अब पुलिस को वारदात के बाद लोगों द्वारा अपनी दुकानों के बाहर लगवाए कैमरों की मदद लेनी पड़ रही है। हालांकि, निजी इस्तेमाल के लिए लगाए गए कैमरों का रेजुलेशन कम होने से मदद नहीं मिल पाती है।
पहले चालान के लिए भी इस्तेमाल हो रहे थे
मुख्य चौक चौराहों पर लगाए गए कैमरों का इस्तेमाल कुछ दिन के लिए चालान के लिए भी मददगार साबित हुआ। ट्रैफिक रुल तोड़ने वाले वाहनों पर कैमरों की फुटेज के मदद से भी कार्रवाई की गई। हालांकि, ये कैमरे ज्यादा दिन मददगार साबित नहीं हुए।
कैंट में हाईवे निर्माण कार्य के चलते उतारे थे कैमरे
बिजली कनेक्टिविटी नहीं होने से ज्यादातर कैमरे नहीं चल रहे। सिटी में एमटी क्रॉसिंग, डीआरएम कट व कालका चौक पर तीन कैमरे चालू हालत में हैं। कालका चौक का कैमरा एनएच वन का है, जो उनके अधीन नहीं है। कैंट में जगाधरी राेड के सभी कैमरे निर्माण कार्य के चलते हटा दिए थे। शास्त्री कॉलोनी कट के पास भी कंस्ट्रक्शन वर्क के चलते कैमरे उतार दिए गए थे। कैमरे उनके लिए काफी मददगार थे। अगर कोई गलत दिशा में चलने के बावजूद इंकार करता था तो उसे कैमरे से दिखाकर चालान के लिए संतुष्ट कर देते थे। अपराधी की शिनाख्त भी हो जाती थी।
जोगिंद्र सिंह, ट्रैफिक इंचार्ज।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *