Nuts cheaper than peanuts and raisins cheaper than grapes in Kapalmochan fair | कपालमोचन मेले में मूंगफली से सस्ता अखरोट और अंगूर से सस्ती किशमिश

Haryana
0 0
Read Time:4 Minute, 21 Second


यमुनानगरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
यमुनानगर|कपालमोचन मेले में ड्राई फ्रूट का सजा बाजारा, खरीदारी करते लोग। - Dainik Bhaskar

यमुनानगर|कपालमोचन मेले में ड्राई फ्रूट का सजा बाजारा, खरीदारी करते लोग।

  • गुजरात और मध्य प्रदेश के लोग कपालमाेचन मेले में पहुंचे हैं ड्राई फ्रूट बेचने

कपालमोचन मेला ड्राई फ्रूट का सस्ता और बड़ा बाजार बना हुआ है। यहां ड्राई फ्रूट की सैकड़ों दुकानें लगी हैं। ज्यादातर अखरोट और किशमिश बेच रहे हैं। यहां मिलने वाला अखरोट बाजार में इन दिनों बिक रही मूंगफली से सस्ता है। वहीं, अगर बात किशमिश की करें तो उसका रेट आजकल बाजार में आ रहे इंपोर्टेड अंगूर से सस्ता है। बाजार में इन दिनों मूंगफली 150 रुपए प्रति किलो या इससे ज्यादा भाव बिक रही है।

अगर इसके मुकाबले बात कपालमोचन में बिकने वाले अखरोट की करें तो वहां पर 100 रुपए प्रति किलो अखरोट (बिना गिरी निकला) मिल रहा है। जबकि बाजार में 200 से 250 रुपए प्रति किलो है। वहीं, किशमिश और अंगूर की बात करें तो इन दिनों अंगूर का मार्केट में भाव 200 रुपए से 250 रुपए प्रति किलो है, लेकिन मेले में किशमिश 180 से 200 रुपए प्रति किलोग्राम के भाव मिल रही है।

यहां पर अखरोट और किशमिश बेचने वाले दावा तो करते हैं कि यह माल बाजार में बिकने वाले से बेहतर है, लेकिन कई लोग इसे लेने के बाद पछताते भी हैं। क्योंकि यहां मिलने वाले अखरोट से गिरी निकालना हर किसी के बस की बात नहीं है। इसमें गिरी यहां पर बेचने वाले ही आसानी से निकाल पाते हैं। एक अनुमान है कि मेले में करीब 50 क्विंटल अखरोट बिक जाते हैं। ड्राई फ्रूट में सबसे ज्यादा अखरोट यहां से लोग खरीदते हैं।

सस्ते ड्राई फ्रूट के पीछे ये दो वजह
गुजरात से अखरोट बेचने आई महिला रेणू ने बताया कि अखरोट 100 रुपए किलो बेचने के पीछे वजह है कि वे बड़ी मात्रा में व्यापारियों से अखरोट खरीदते हैं। इससे उन्हें सस्ते भाव मिल जाते हैं। वहीं, दूसरा जो अखरोट वे खरीदते हैं उसे सिर्फ कागजी नहीं होते, मिक्स होते हैं। कागजी अखरोट का रेट इन अखरोट से दोगुना होता है। कागजी अखरोट हाथ या दांत से आसानी से टूट जाता है, लेकिन उनके अखरोट मिक्स होने से बहुत से अखरोट पत्थर या फिर अन्य किसी भारी चीज के वार से टूटते हैं।

उधर, यमुनानगर के ड्राइ फ्रूट और िकरयाना व्यापारी निपुण गर्ग का कहना है कि मेले में जो अखरोट बेचे जाते हैं, वे काफी लो क्वालिटी के होते हैं। वे देखने में बाहर से बहुत अच्छे होते हैं, लेकिन जब उन्हें तोड़ा जाता है तो उनमें से गिरी बहुत छोटी निकलती है और उनसे गिरी निकालना बेहद मुश्किल होता है। ये अखरोट अनमैच्योर फल होते हैं।

इन दिनों ज्यादा खरीदे जाते हैं ड्राई फ्रूट
सर्दी का मौसम शुरू हो गया है। इन दिनों लोग ड्राई फ्रूट ज्यादा पसंद करते हैं। इसलिए कपालमोचन मेले में आने वाले यहां से ड्राई फ्रूट खरीद रहे हैं। यहां अखरोट और किशमिश के साथ-साथ बादाम, खोपा भी बेचा जा रहा है। मेले के आखिरी दिन दुकानदार पूरा माल बेचने के चक्कर में रेट कम कर देते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *