In Rewari, along with 2 accomplices stole 32 gram mustard seeds; When Sadar was caught by the police, it was revealed | रेवाड़ी में 2 साथियों के साथ मिलकर 32 मण सरसों चोरी की; सदर पुलिस के हत्थे चढ़े तो खुलासा हुआ

Haryana
0 0
Read Time:2 Minute, 42 Second


रेवाड़ीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
सदर थाना पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपी। - Dainik Bhaskar

सदर थाना पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपी।

हरियाणा के रेवाड़ी में एक युवक कर्ज उतारने के लिए चोर बन गया। उसने अपने ही पड़ौसी की दुकान से 32 मण सरसों अपने दो साथियों के साथ मिलकर ताला तोड़कर चोरी कर ली। सदर पुलिस ने शनिवार को दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की पहचान रेवाड़ी जिले के गांव नूरपुर निवासी राजेश शर्मा व राजस्थान के अलवर जिले के गांव बलडोद निवासी मोतीलाल के रूप में हुई है। तीसरा आरोपी संदीप अभी फरार है। पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार रेवाड़ी की दुर्गा कॉलोनी गली नंबर-2 निवासी उद्यम सिंह की रेवाड़ी के पटौदी रोड स्थित ITI के सामने दुकान है। दुकान के अंदर उसने कट्‌टों में भरकर करीब 32 मन सरसों रखी हुई थी। 15 नवंबर की रात उसकी दुकान का ताला तोड़कर आरोपियों ने सरसों चोरी कर ली थी। 19 नवंबर को सदर थाना पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की थी। अगले ही दिन शनिवार को पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ लिया है।

कर्ज तले दबा था राजेश

डीएसपी पूनम ने बताया कि पकड़ में आए आरोपी राजेश ने कुछ समय पहले तक उद्यम सिंह की दुकान के साथ वाली दुकान किराये पर ली हुई थी। उसकी वजह से राजेश को पता था कि इस दुकान में सरसों रखी हुई है। डीएसपी के अनुसार राजेश पर करीब एक से डेढ़ लाख रुपए का कर्ज था। इसी कर्ज को उतारने के लिए उसने अपने साथी मोतीलाल व संदीप को चोरी के लिए तैयार किया और फिर 15 नवंबर की दरमियानी रात तीनों ने उद्यम सिंह दुकान का ताला तोड़कर लाखों रुपए की सरसों चोरी कर ली। आरोपियों ने इस सरसों को बेच दिया है। रिमांड के दौरान आरोपियों से सरसों कहा बेची इसकी जानकारी जुटाई जाएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *