Due to negligence in cleaning and garbage collection, smart city has dropped from first to third place in the state. | सफाई व कूड़ा उठान में लापरवाही से प्रदेश में पहले से तीसरे पायदान पर लुढ़की स्मार्ट सिटी

Haryana
0 0
Read Time:3 Minute, 56 Second


  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Karnal
  • Due To Negligence In Cleaning And Garbage Collection, Smart City Has Dropped From First To Third Place In The State.

करनाल22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के रिजल्ट से प्रदेश में स्मार्ट सिटी ने सबसे स्वच्छ शहर का ताज खो दिया। करनाल को पछाड़ते हुए गुरुग्राम और रोहतक आगे निकल गए। अब करनाल प्रदेश में तीसरे स्थान पर खिसक गया है।

करनाल की रैंकिंग इतनी बुरी तरह से पिछड़ी कि पिछले चार सालों में कमाया स्वच्छ सम्मान शहर में सड़कों किनारे बिखरे कचरे से दूषित हो गया। स्वच्छ भारत मिशन सिटी टीम दफ्तर में बैठे टॉप टेन में आने का दावा करती रही, लेकिन करनाल शहर टॉप टेन में आना तो दूर पिछले चार साल के अपने रिकाॅर्ड को भी मेनटेन नहीं रख पाया। स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के रिजल्ट की 2020 के रिजल्ट से तुलना में शहर 69 रैंक नीचे आकर धड़ाम से पड़ा।

पिछले साल स्मार्ट सिटी का देशभर में 17वां रैंक आया था, जबकि इस बार यह तेजी से लुढ़कते हुए 86वें रैंक पर आकर रूका। अगर चार साल पहले की बात करें तो सीएम सिटी को वर्ष 2017 में 65वां रैंक मिला था जो उत्तर भारत समेत प्रदेश में प्रथम स्थान था। करनाल लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हुए पिछले चार सालों से प्रदेश में अव्वल रहकर अपने सिर स्वच्छ शहर का ताज सजाए हुए था, लेकिन इस बार करनाल ने यह ताज बुरी तरह से गंवा दिया। शहर को सिर्फ पिछले सालों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते लिए अनुपम अवाॅर्ड दिया गया। खुद से ही हार गया स्मार्ट सिटी, बुरी तरह पिछड़ा : देश में शुरू किए गए स्वच्छ सर्वेक्षण में करनाल स्मार्ट सिटी पिछले चार सालों से राष्ट्रीय रैंकिंग में बेहतर प्रदर्शन करता आ रहा था। लेकिन इस बार 2021 के स्वच्छ सर्वेक्षण में करनाल का स्वच्छ प्रदर्शन हास्यास्पद रहा। करनाल खुद से ही हार गया है।

करनाल की चार साल की रैंकिंग पर नजर दौड़ाई जाए तो वर्ष 2017 के स्वच्छ सर्वेक्षण में राष्ट्रीय स्तर पर 65वां स्थान रैंक, वर्ष 2018 में 41वां स्थान, वर्ष 2019 में 24वां रैंक, 2020 में 17वां रैंक जो कि लगातार सुधार की तरफ अग्रसर था, लेकिन इस बार 2021 के स्वच्छ सर्वेक्षण में शहर का स्वच्छता रैंक नीचे 86वें स्थान पर आ गिरा।

प्रदेश में थर्ड रहा करनाल, देश में टॉप 10 के सपने टूटे

स्वच्छ सर्वेक्षण में प्रदेशभर के शहरों में करनाल की पॉजिशन देखें तो यह तीसरे स्थान पर रहा। सबसे पहले नंबर पर गुरुग्राम रहा, जिसका 24वां रैंक रहा, दूसरे स्थान रोहतक रहा जिसको 49वां रैंक मिला, जबकि करनाल का रैंक 86वां आया। अगर करनाल की पॉजिशन की बात करें तो यह पहला ऐसा सर्वेक्षण रिजल्ट है, जिसमें करनाल बुरी तरह से पिछड़ा है। करनाल के देशभर में टॉप टेन में शुमार होने के सपने टूटे हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *