The investigation of the case handed over to three J-grade employees, the defect in the coach and the employee’s lapse, will be disclosed | जे-ग्रेड के 3 कर्मचारियों के हाथ सौंपी मामले की जांच, कोच में खराबी या कर्मचारी की चूक; करेंगे खुलासा

Haryana
0 0
Read Time:2 Minute, 57 Second


  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Ambala
  • The Investigation Of The Case Handed Over To Three J grade Employees, The Defect In The Coach And The Employee’s Lapse, Will Be Disclosed

अंबालाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
अंबाला रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 7 के पास उतरा था मालगाड़ी का डिब्बा। - Dainik Bhaskar

अंबाला रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 7 के पास उतरा था मालगाड़ी का डिब्बा।

अंबाला कैंट रेलवे स्टेशन पर कांटा बदलते समय बेपटरी हुए मालगाड़ी के डिब्बे मामले में अभी तक कोई स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए रेल प्रबंधक गुरिंद्र मोहन ने जांच का जिम्मा जे-ग्रेड के तीन अधिकारियों को सौंपा है। भविष्य में इस तरह के हादसे रोकने के लिए अधिकारी हर पहलू से मामले की जांच करेंगे कि आखिर यह हादया इंजन या पटरी में खराबी की वजह से हुआ या फिर किसी कर्मचारी की चूक के कारण।

बता दें कि 12 नवंबर को अंबाला कैंट रेलवे स्टेशन के यार्ड में मालगाड़ी का एक डिब्बा बेपटरी हो गया था। उस मामले की जांच में कर्मचारी की गलती सामने आई थी। आलाधिकारियों ने माना था कि वैल्डिंग की जा रही थी तो स्टाफ ने हैंड ब्रेक का हैंडल ऊपर उठा दिया था। जिस कारण कांटे पर पहुंचने के बाद डिब्बा बेपटरी हो गया। संबंधित कर्मचारी को चार्जशीट करने के निर्देश दिए गए थे।

12 नवंबर को अंबाला के रेलवे यार्ड में उतरा था मालगाड़ी का पहिया।

12 नवंबर को अंबाला के रेलवे यार्ड में उतरा था मालगाड़ी का पहिया।

इस बार अंबाला कैंट रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 7 के पास 8 नंबर लेन पर यह हादसा फिर से हुआ। रविवार शाम 5.45 मिनट पर एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई। दिल्ली से आई ट्रेन जैसे ही अंबाला रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म 7 के पास कांटा बदलने लगी तो अचानक बेपटरी हो गई। हादसे में मालगाड़ी के आगे से पांचवां डिब्बा पिछले में बुरी तरह से फंस गया था।

यहीं कारण रहा था कि प्लेटफार्म नंबर 7 की 8 नंबर लाइन से गुजरने वाली करीब छह ट्रेनें घंटों पानीपत से अंबाला के बीच खड़ी रही थीं। रेलवे अधिकारियों की कड़ी मशक्कत के बाद जैसे ही करीब 7 बजकर 32 मिनट पर ट्रेन को दूसरी लाइन पर खड़ा किया गया तो बाधित यातायात सुचारू हुआ था।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *