India 6G Network; Ashwini Vaishnaw On New Technology and the Green Economy | टेलीकॉम मिनिस्टर ने कहा- इस टेक्नोलॉजी पर इंजीनियर्स ने काम शुरू किया, 5G का प्लान भी बताया

Business
0 0
Read Time:2 Minute, 49 Second


नई दिल्ली5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अभी देश में 5G सर्विस लॉन्च नहीं हुई है, लेकिन 6G टेक्नोलॉजी की तैयारी शुरू हो गई है। टेलीकॉम मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मंगलवार को कहा कि भारत स्वदेश में तैयार की गई 6G टेक्नोलॉजी की दिशा में काम कर रहा है। इसे 2023 के आखिर तक या 2024 की शुरुआत में यानी 2 साल में लॉन्च करने का टारगेट सेट किया है। इस टेक्नोलॉजी पर काम कर रहे वैज्ञानिकों और इंजीनियर्स को जरूरी परमिशन दी जा चुकी हैं।

उन्होंने कहा कि हम इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। हम भारत में ऐसा टेलीकॉम सॉफ्टवेयर को डिजाइन कर रहे हैं, जो भारत में बने टेलीकॉम डिवाइस, भारत के टेलीकॉम नेटवर्क में सर्विस देगा। अगले साल की तीसरी तिमाही तक टेक्नोलॉजी के लिए एक अहम सॉफ्टवेयर भी तैयार हो जाएगा। 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी भी कैलेंडर ईयर 2022 की दूसरी तिमाही में होने की संभावना है।

5G स्पेक्ट्रम की नीलामी 2022 की दूसरी तिमाही तक
5G स्पेक्ट्रम की नीलामी भी कैलेंडर ईयर 2022 की दूसरी तिमाही में होने की संभावना है। 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए TRAI को एक रेफ्रेंस दिया गया है। उन्होंने कंसल्टेशन प्रोसेस शुरू कर दी है। यह प्रक्रिया आने वाले साल में फरवरी-मार्च की समय सीमा में कहीं खत्म होने की उम्मीद है। साल की शुरुआत में टेलीकॉम कंपनियों की शॉर्ट टर्म लिक्विडिटी जरूरतों के साथ-साथ लॉन्ग टर्म इश्यू पर ध्यान देने के लिए नौ सुधारों के एक सेट को मंजूरी दी थी।

देश में भारती एयरटेल, रिलायंस जियो और वोडाफोन-आइडिया को 5G ट्रायल के लिए स्पेक्ट्रम आवंटित किए गए हैं। इस दौरान जियो और एयरटेल ने करीब 1Gbps की अधिकतम 5G स्पीड हासिल की है। वहीं वोडाफोन-आइडिया ने 5G ट्रॉयल के दौरान अधिकतम 3.5Gbps तक की स्पीड हासिल की है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *