Offline class started in MDU, only 40% students reached on first day, no entry in class without vaccination | एमडीयू में ऑफलाइन क्लास शुरू, पहले दिन 40% स्टूडेंट्स ही पहुंचे, बिना टीकाकरण क्लास में एंट्री नहीं

Haryana
0 0
Read Time:6 Minute, 9 Second


रोहतक10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय खुलने पर कक्षा में विद्यार्थियों को पढ़ाते प्रोफेसर। - Dainik Bhaskar

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय खुलने पर कक्षा में विद्यार्थियों को पढ़ाते प्रोफेसर।

  • कोरोना महामारी के करीब 2 साल बाद महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में कोविड-19 गाइडलाइन से पढ़ाई शुरू

कोरोना महामारी के चलते पिछले करीब 2 साल से बंद महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में गुरुवार से ऑफलाइन कक्षाएं शुरू हो गई। हालांकि, पहले दिन विश्वविद्यालय में आने वाले विद्यार्थियों की संख्या कम रही। 40 फीसदी ही स्टूडेंट्स आए। विवि खुलने से स्टूडेंट्स में खुशी का माहौल देखने को मिला।

छात्र संगठन भी ऑफलाइन कक्षाएं शुरू करने की मांग को लेकर कई बार आंदोलन कर चुके हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार ने हाल ही में इस बारे में हरियाणा के सभी विश्वविद्यालयों में नियमित कक्षाएं शुरू करने के आदेश दिए थे। कक्षा में आने वाले विद्यार्थियों के लिए कोरोना महामारी से बचाव के के लिए टीका लगवाना जरूरी है।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने कोविड-19 गाइडलाइन से ऑफलाइन कक्षाएं लगाई गई। एमडीयू कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन का प्रयास रहेगा कि विद्यार्थियों को शैक्षणिक के साथ-साथ सहित्यिक-सांस्कृतिक, खेल, और सोशल आउटरीच गतिविधियों का मंच प्रदान किया जाए, ताकि विद्यार्थियों के व्यक्तित्व का समग्र विकास हो सके। इस बीच विश्वविद्यालय छात्रावासों में प्रवेश के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए हॉस्टल प्रवेश प्रक्रिया जारी है। एक दिसंबर से विश्वविद्यालय छात्रवास प्रवेश लागू करेगा।

सरकार की गाइडलाइन के आधार पर लिया एमडीयू खोलने का फैसला

एमडीयू के जनसंपर्क निदेशक डॉ. सुनित मुखर्जी ने बताया कि एमडीयू खोलने का नीतिगत फैसला विवि स्तर पर नहीं लिया है। यह फैसला हरियाणा सरकार के राज्य आपदा प्रबंधन अथॉरिटी की गाइडलाइन के आधार पर विवि स्तर पर कुलपति की ओर से डीन, विभागाध्यक्ष व डायरेक्टर के साथ बैठक की।

इसके बाद ही तैयार की गई अनुशंसा को सरकार को भेजा गया। इसके बाद उच्चतर शिक्षा विभाग की अनुमति के बाद ही एमडीयू को खोला गया है। विवि को खोलते समय गाइडलाइन भी जारी की है। इसके लिए कोविड-19 वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट होना जरूरी है। अभी विभागों में छूट दी गई है कि यदि कोई प्राध्यापक चाहता है कि वह किसी एक पेपर की 40 फीसदी पढ़ाई ऑनलाइन करवाना चाहता है तो इसका भी प्रावधान रखा है। इसके अलावा, ऑफलाइन पढ़ाई 25 नवंबर से शुरू कर दी है। वहीं, हॉस्टल के लिए आवेदन मांग लिए गए हैं। संबंधित विभागों में स्टूडेंट्स अपने आवेदन दे सकता है। दोनों टीके लगवाने वालों को तत्काल हॉस्टल में एडमिशन मिल जाएगा।

स्टूडेंट्स के लिए हर शनिवार मेंटर-मेंटी सेशन

विद्यार्थियों को व्यक्तित्व और कॅरियर परामर्श के साथ-साथ भावनात्मक संबल देने के लिए प्रति सप्ताह मेंटर-मेंटी सत्रों का आयोजन किया जाएगा। भावानात्मक माहौल देने के लिए भी कोविड-19 काल के बाद मेंटर-मेंटी सेशन हरेक शनिवार को लगाया जाएगा। इसके लिए हरेक टीचर को कुछ स्टूडेंट्स बांट दिए जाएंगे, ताकि वे मेंटर-मेंटी सेशन में भावनात्मक समस्या को सुलझाने के लिए प्रेरित कर सकें। इसके अलावा मनोवैज्ञानिक सलाह और कॅरियर गाइडेंस भी स्टूडेंट्स को देने के लिए व्यवस्था की गई है, ताकि स्टूडेंट्स को भावनात्मक संबल दिया जा सके।

स्टूडेंट्स बोले- कोरोना काल में घर पर हो रहे थे बोर

छात्र सचिन ने बताया कि एमडीयू में मास्क और वैक्सीनेशन की अनिवार्यता को देखते हुए इसकी पूरी तैयारी पहले ही कर ली थी। अब तक ऑनलाइन क्लास ही लगा रहे थे, लेकिन उससे पढ़ाई ज्यादा बेहतर नहीं हो पाती है, लेकिन ऑफलाइन मोड में पढ़ाई करने से अपने दोस्तों से मुलाकात के साथ ही टीचर से भी समझने में आसानी होती है। वहीं, छात्रा निकिता ने बताया कि विवि में आने पर काफी अच्छा लग रहा है। असल में कोरोना काल में घर में रहकर सभी बोर हो रहे थे। अब ऑफलाइन क्लास लगाने से हर मुद्दे पर अच्छे तरीके से समझ सकते हैं। यहां पर पुराने दोस्तों से मिलने और नई चीजें समझने का भी मौका मिलेगा।​​​​​​

खबरें और भी हैं…



Source link

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *